Fri. Apr 19th, 2024

रुद्रप्रयाग। श्री केदारनाथ धाम यात्रा 2024 को सुगम एवं सुव्यवस्थित रूप से संचालित कराने के लिए एवं दर्शन करने आने वाले श्रद्धालुओं को कोई परेशानी न हो तथा राष्ट्रीय राजमार्ग का जो भी निर्माण कार्य गतिमान है, यात्रा से पूर्व पूर्ण करने के लिए सचिव लोनिवि डॉ पंकज पांडेय ने जिलाधिकारी सौरभ गहरवार सहित राष्ट्रीय राजमार्ग एवं लोनिवि के अधिकारियों के साथ रुद्रप्रयाग से गौरीकुंड तक का निरीक्षण कर चल रहे निर्माण कार्यों का जायजा लिया।

सचिव लोनिवि ने राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि रुद्रप्रयाग से सोनप्रयाग के बीच जिन स्थानों पर सड़क निर्माण कार्य किए जा रहे हैं उन सभी कार्यों को यात्रा शुरू होने से पूर्व ही त्वरित गति से कार्य करते हुए पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने यह भी निर्देश दिए हैं कि रुद्रप्रयाग से सोनप्रयाग के बीच जिन स्थानों पर डबल लेन सड़क नहीं है उन स्थानों पर त्वरित गति से सड़क को डबल लेन बना लिया जाए। ताकि यात्रा के दौरान जाम की स्थिति पैदा न हो। उन्होंने यह भी निर्देश कि सोनप्रयाग से गौरीकुंड तक सड़क किनारे इंटर लॉकिंग कर ली जाए।

सचिव पंकज पांडेय ने चीफ इंजीनियर लोनिवि राजेश शर्मा को निर्देश दिए कि गौरी कुंड से तप्त कुंड तक यात्रियों की सुविधा हेतु गतिमान सभी कार्यों को यात्रा से पूर्व पूर्ण कर लिया जाए। ताकि यात्रा को संचालित करने में कोई समस्या न हो।

एक दिवसीय जनपद भ्रमण पर पहुचें सचिव लोनिवि डॉ पंकज पांडेय का जिलाधिकारी डॉ सौरभ गहरवार ने स्वागत करते हुए राष्ट्रीय राजमार्ग सहित अन्य विभागों द्वारा केदारनाथ यात्रा के सफल संचालन हेतु की जा रही तैयारियों एवं व्यवस्थाओं के संबंध में जानकारी दी। जिलाधिकारी ने सचिव को आश्वस्त किया कि निरीक्षण के दौरान उनके द्वारा जो भी दिशा निर्देश दिए गए हैं उनका संबंधित अधिकारियों से अनुपालन सुनिश्चित कराया जाएगा।

निरीक्षण के दौरान चीफ इंजीनियरिंग राष्ट्रीय राजमार्ग दयानंद, चीफ इंजीनियर लोनिवि पौड़ी राजेश शर्मा, अधीक्षण अभियंता राजेश चंद्र, मुकेश परमार, उप जिलाधिकारी ऊखीमठ अनिल शुक्ला, अधिशासी अभियंता राष्ट्रीय राजमार्ग निर्भय सिंह, डीडीएमए विनय सहित अन्य अधिकारी- कर्मचारी मौजूद रहे।

The post श्री केदारनाथ यात्रा 2024 को सुगम एवं सुव्यवस्थित ढंग से संचालित करने के लिए सचिव लोनिवि ने राष्ट्रीय राजमार्ग में गतिमान कार्यो का किया निरीक्षण first appeared on viratuttarakhand.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *