Sun. Jul 21st, 2024

देहरादून। उत्तराखंड विधानसभा में धामी सरकार ने 89,230 करोड़ रूपए का बजट पेश किया। यह बजट पिछले वर्ष से 15.27 प्रतिशत अधिक है। राजस्व के लिए लेखे का व्यय 55815.77 करोड़ और पूंजीगत लेखे का व्यय 33414.30 करोड़ रहा। वित्तीय वर्ष 2024-25 में जेंडर बजट में लगभग 14538 करोड़ पांच लाख का प्रावधान रखा गया है। नारी शक्ति और महिला कल्याण के लिए 574 करोड़ का प्रावधान किया गया है। नंदा गौरा योजना के लिए 195.00 करोड़, मुख्यमंत्री महालक्ष्मी योजना के लिए 30.00 करोड़, मुख्यमंत्री बाल पोषण योजना के लिए 28 करोड़, मुख्यमंत्री महिला पोषण योजना में 15 करोड़, गंगा गाय महिला डेरी विकास योजना के लिए पांच करोड़, मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना के के लिए लगभग 21 करोड़ का प्रावधान किया गया है। डिग्री कॉलेज सरकारी में शैक्षिक गुणवत्ता को 10 करोड़, एनईपी के तहत चल रही अनुसन्धान योजना को 2 करोड़ का प्रावधान किया गया है। आरटीई के तहत 94 हजार से ज्यादा बच्चों को निशुल्क शिक्षा दी जा रही है।
उत्तराखंड विधानसभा के बजट सत्र के दूसरे दिन धामी सरकार के वित्त मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल द्वारा पेश किया गया। बजट में कहा गया है कि खटीमा में निशुल्क कोचिंग सेंटर खोला जाएगा। सरकारी विद्यालयों में आईसीटी लैब बनेगी। मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक मेधावी बालिका प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत 2024 के लिए तीन करोड़ 70 लाख रुपए का प्रावधान किया गया है। विज्ञान केंद्र चंपावत के लिए तीन करोड़ का प्रावधान किया गया है। युवा कल्याण एवं खेलकूद में 2024-25 के लिए कुल प्रावधान 534 करोड़, 2022-23 में वास्तविक व्यय लगभग 229 करोड़, 2023-24 का संशोधित अनुमान 233 करोड़, तकनीकी शिक्षा में 2024-25 के लिए कुल प्रावधान-321 करोड़, 2022-23 में वास्तविक व्यय लगभग-243 करोड़, 2023-24 का संशोधित अनुमान- 316 करोड़, उच्च शिक्षा में 2024-25 हेतु कुल प्रावधान-824 करोड़, 2022-23 में वास्तविक व्यय लगभग- 733 करोड,़ 2023-24 का संशोधित अनुमान-763 है। स्वास्थ्य एवं शिक्षा के लिए 15376 करोड़ का प्रावधान किया गया है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के लिए 1010 करोड़ का प्रावधान किया गया है। अटल आयुष्मान उत्तराखण्ड योजना के लिए 500 करोड़ का प्रावधान किया गया है। बाह्य सहायतित उत्तराखंड हेल्थ सिस्टम डेवलपमेंट परियोजना के लिए 105 करोड़, राष्ट्रीय आयुष मिशन के लिए 96 करोड़, कक्षा एक से आठ तक के विद्यार्थियों के लिए निशुल्क जूता एवं बैग व्यवस्था के लिए 25 करोड़, उद्यमिता, कौशल एवं नवाचार को बढ़ावा दिए जाने के लिए सात करोड़ प्रावधान किया गया है।
बजट में 38वें राष्ट्रीय खेलों के आयोजन के लिए 250 करोड़ रुपये का प्राविधान रखा गया है। खेल महाकुम्भ आयोजन हेतु लगभग 27.00 करोड़, ग्रामीण क्षेत्रों में मिनी स्टेडियम के लिए 15.00 करोड़, राज्य और राष्ट्रीय युवा महोत्सव का आयोजन के लिए 10 करोड़, शैक्षिक कार्यक्रमों के अन्तर्गत छात्रवृत्तियों हेतु 10 करोड़, अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में पदक विजेता खिलाड़ियों को पुरस्कार, आर्थिक सहायता आठ करोड़ उद्यमिता, कौशल एवं नवाचार को बढावा दिये जाने के लिए सात करोड़, प्रशिक्षण शिविरों के आयोजन के लिए वित्तीय वर्ष 2024-25 में पांच करोड़ अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में पदक विजेता खिलाड़ियों को पुरस्कार आर्थिक सहायता आठ करोड़, वर्क फोर्स डेवलपमेंट फॉर मार्डन इकोनामी के लिए पांच करोड़, मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक मेधावी बालिका प्रोत्साहन योजना के लिए 2024-25 में लगभग चार करोड़, मुख्यमंत्री शेवनिंग उच्च शिक्षा छात्रवृत्ति योजनान्तर्गत दो करोड़ का प्राविधान किया गया है।
नगरीय अवस्थापना का सुदृढीकरण (ए०डी०बी०) के लिए 150 करोड़, नगरीय अवस्थापना का सुदृढीकरण (हल्द्वानी एवं अन्य शहर) के लिए 109 करोड़, नगरीय पेयजल, जलोत्सारण योजनाओं के निर्माण के लिए सौ करोड़, पेयजल विभाग में के०एफ० डब्ल्यू० परियोजना के लिए सौ करोड़, अटल नवीनीकरण एवं शहरी परिवर्तन मिशन फेज-2 के लिए सौ करोड़, मध्यम श्रेणी के नगर निकायों में शहरी अवस्थापना विकास (फेज-2) के लिए 60.00 करोड़, मलिन बस्ती विकास नगरीय अवस्थापना सुविधाओं के विकास के लिए 50.00 करोड़, ऋषिकेश नगर एकीकृत शहरी अवस्थापना विकास परियोजना के अन्तर्गत  27.00 करोड़, ग्रीन फील्ड ब्राउन फील्ड सिटी निर्माण के लिए 20.00 करोड़, गैरसैंण में अवस्थापना कार्य के लिए 20.00 करोड़, उच्च शिक्षा में 2024-25 हेतु प्रावधान-824 करोड़ का प्रावधान किया गया है।

The post विधानसभा में धामी सरकार ने पेश किया 89,230 हजार करोड़ का बजट first appeared on viratuttarakhand.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *