Fri. Apr 19th, 2024

-गोविन्द बल्लभ पंत कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के कुलपति ने राज्यपाल से की भेंट

देहरादून। राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) से बुधवार को राजभवन में गोविन्द बल्लभ पंत कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. मनमोहन चौहान ने शिष्टाचार भेंट कर विश्वविद्यालय की प्रगति एवं कार्य योजना का प्रस्तुतीकरण दिया। राज्यपाल ने कहा कि जीबी पंत विश्वविद्यालय कृषि एवं बीज के क्षेत्र में रिसर्च और टेक्नोलॉजी के माध्यम से क्रांति का अग्रदूत बने। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय विश्व स्तरीय होने के नाते अपनी पहचान को सार्थक करते हुए कृषि के क्षेत्र में लोगों के लिए अपना योगदान दे। राज्यपाल ने कुलपति को तीन माह के भीतर कृषि के क्षेत्र में राष्ट्रीय स्तर और राज्य स्तर पर रिसर्च कर अपने सुझाव देने को कहा। उन्होंने कहा कि किसानों की बेहतरी और फसलों की उन्नत पैदावार के लिए भी अपने सुझाव देने को कहा। राज्यपाल ने कहा कि उन्नत कृषि उत्पादन के लिए इजराइल जैसे आधुनिक कृषि तकनीकों को अपनाने वाले देश की तकनीकों पर अनुसंधान कर उन तकनीकों पर कार्य करने के प्रयास करें। कुलपति ने राज्यपाल को आश्वस्त किया कि उनके द्वारा दिए गए सुझावों पर यथाशीघ्र कार्यवाही का प्रयास किया जाएगा। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के प्रो. डॉ. एस. के. कश्यप, डॉ. एच. एन. सिंह और विनोद गौड़ उपस्थित रहे।
संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी नमामि बंसल ने सचिवालय स्थित मीडिया सेंटर में प्रेस ब्रीफिंग करते हुए कहा कि प्रदेश में लोक सभा सामान्य निर्वाचन 2024 सकुशल और शांतिपूर्ण सम्पन्न कराने एवं मतदाता जागरूकता के संबंध में अनेक गतिविधियां आयोजित की जा रही हैं। मतदाता जागरूकता के लिए अनेक थीम पर आधारित गतिविधियों का निरंतर आयोजन किया जा रहा है। 83 लाख 21 हजार 207 मतदाओं को मतदान के लिए विभिन्न माध्यमों से जागरूक किया जा रहा है। राज्य में अब तक 34 लाख 94 हजार मतदाता मतदान की शपथ ले चुके हैं। राष्ट्रीय मतदाता दिवस 25 जनवरी से मतदाता जागरूकता अभियान की शुरूआत की गई।
संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि मतदाता जागरूकता से संबंधित विभिन्न गतिविधियों के लिए 13 फरवरी 2024 से एक कलेण्डर भी तैयार किया गया है। मतदाता जागरूकता के लिए मेंहदी प्रतियोगिता, रंगोली, स्लोगन लेखन में अब तक 16 हजार गतिविधियां आयोजित की जा चुकी हैं, जिसमें अभी तक 06 लाख 55 हजार मतदाताओं ने प्रतिभाग किया है। लगभग 5700 मैराथन और रैली का आयोजन भी मतदाता जागरूकता के लिए किया गया है, जिसमें लगभग 72 हजार मतदाताओं ने प्रतिभाग किया है। भाषण और वाद-विवाद प्रतियोगिताओं के लिये भी मतदाता जागरूकता के लिए प्रदेश में 25 हजार आयोजन किये जा चुके हैं। जनवरी माह में मतदाता पंजीकरण के लिए मिशन मोड में कैम्प लगाये गये, अब तक मतदाता पंजीकरण के लिए 15 हजार 232 कैम्प लगाये जा चुके हैं। नारी निकेतन, वृद्धाश्रम, शिक्षण संस्थानों में मतदाओं को जोड़ने के लिए विशेष अभियान चलाये गये। राज्य में 18 से 19 वर्ष  के 01 लाख 45 हजार फर्स्ट टाईम वोटर्स  को जोड़ा गया है, जो प्रथम बार अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। उनके लिए एपिक कार्ड की डिलीवरी भी कराई जा रही है। संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी नमामि बंसल ने जानकारी दी कि लोक सभा चुनाव 2019 में राज्य में मतदान प्रतिशत लगभग 61.5 प्रतिशत था। राज्य में मतदान प्रतिशत को बढ़ाने के लिए बूथ लेवल पर मतदाओं को लाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है इसके लिए बूथ लेवल इलेक्शन मैनेजमेंट प्लान भी प्रत्येक जनपद में तैयार किया गया है। सभी 11729 बूथों में बूथ लेवल इलेक्शन मैनेजमेंट प्लान तैयार किया गया है। राज्य में मतदान प्रतिशत को बढ़ाने के लिए लगातार प्रयास किये जा रहे हैं, इसे कम से कम 75 प्रतिशत करने का लक्ष्य रखा गया है। संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि 107/16 में कल 2290 मामले दर्ज किये गये हैं। अब तक 107/16  के लगभग 5800 मामले दर्ज हो चुके हैं।

The post कुलपति ने विश्वविद्यालय की प्रगति एवं कार्ययोजना का राज्यपाल को दिया प्रस्तुतिकरण first appeared on viratuttarakhand.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *