बड़ा खुलासा: ऋषिकेश में चल रहा था विदेशी नागरिकों को उत्तराखंडी बनाने का गोरखधंधा, STF ने मारी रेड

बड़ा खुलासा: ऋषिकेश में चल रहा था विदेशी नागरिकों को उत्तराखंडी बनाने का गोरखधंधा, STF ने मारी रेड

देहरादून: उत्तराखंड के ऋषिकेश में नेपाली और विदेशी नागरिकों के फर्जी आधार कार्ड बनाने वाले सेंटर का पर्दाफाश कर एसटीएफ ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. उत्तराखंड एसटीएफ के एसएसपी आयुष अग्रवाल ने बताया कि ऋषिकेश स्थित एक जन सेवा संस्थान की ओर से मोटी धनराशि लेकर फर्जी दस्तावेजों के आधार पर अन्य देश और राज्य के निवासियों को उत्तराखंड का निवासी दिखाते हुए फर्जी आधार कार्ड, फर्जी वोटर आइकार्ड और अन्य महत्वपूर्ण दस्तावेज बनाये जा रहे थे.

आयुष अग्रवाल, SSP, STF

एसटीएफ ने सीएससी के संचालक लक्ष्मण सिंह सैनी, बाबू सैनी और भारत सिंह उर्फ भरदे मदई को गिरफ्तार किया है. एसटीएफ मुख्य आरोपी लक्ष्मण सिंह सैनी से पूछताछ कर रही है कि अब तक कितने नेपाल मूल और अन्य लोगों के फर्जी दस्तावेजों के जरिए आधार कार्ड और वोटर आईडी कार्ड बनाए गए हैं. नेपाल मूल के भरत सिंह का उत्तराखंड के पौड़ी जिले के एक गांव का वोटर कार्ड, आधार कार्ड बनाने का भी मामला सामने आया है.

एसटीएफ इस बात की जांच कर रही है कि आखिर अभी तक कॉमन सर्विस सेंटर से कितने लोगों का फर्जी दस्तावेजों के जरिए कार्ड बनाया गया है. कॉमन सर्विस सेंटर में पैसे लेकर धड़ल्ले से देशी व विदेशी नागरिकों के आधार कार्ड व पैन कार्ड बनाने के मामले को देखते हुए एसटीएफ गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ रही है.

गिरफ्तार आरोपियों के पास से एसटीएफ ने 640 ब्लैंक प्लास्टिक कार्ड, 200 लेमिनेशन कवर, 28 वोटर कार्ड आईडी, 68 आधार कार्ड, 17 पैन कार्ड, 7 आयुष्मान कार्ड और कई इलेक्ट्रॉनिक मशीन को भी बरामद किया है.

The post बड़ा खुलासा: ऋषिकेश में चल रहा था विदेशी नागरिकों को उत्तराखंडी बनाने का गोरखधंधा, STF ने मारी रेड first appeared on Humara Uttarakhand.

    Post Comment

    Share