अंकिता भंडारी हत्याकांड: परिजनों पर लगे करोड़ों रुपये लेने के आरोप, पिता ने नकारते हुए कहा- सब अफवाह

अंकिता भंडारी हत्याकांड: परिजनों पर लगे करोड़ों रुपये लेने के आरोप, पिता ने नकारते हुए कहा- सब अफवाह

देहरादून: उत्तराखंड के बहुचर्चित अंकिता भंडारी हत्याकांड मामले में अब पीड़िता के परिवार को बदनाम करने का मामला सामने आ रहा है. अंकिता भंडारी के परिजनों ने कथित लोगों पर इसके लिए जिम्मेदार ठहराया है. उन्होंने कहा कि कुछ लोग सोची समझी रणनीति के साथ प्रदेश से लेकर अन्य जगहों में हमें लेकर ये अफवाह फैला रहे हैं.

दरअसल इस केस में कुछ लोगों द्वारा अफवाह फैलाई जा रही है कि हत्या के आरोपियों से परिजनों ने करोड़ों रुपये सहित देहरादून में फ्लट लिया है. लेकिन, अंकिता के पिता ने कथित तौर पर इन सभी बातों से इनकार किया है. इन सभी का अंकिता के पिता ने विरोध किया है. उन्होंने कहा कि इस काम को करके कुछ कथाकथित लोग जन आंदोलन को अफवाहों के जरिए भ्रमित कर रहे हैं.

दरअसल श्रीनगर में पिछले 12 दिनों से आल इंडिया सांस्कृतिक संघठन के कार्यकर्ताओं सहित विभिन्न सामाजिक लोगों द्वारा अंकिता भंडारी की सीबीआई जांच के लिए आंदोलन किया जा रहा है. इस आंदोलन को अपना सर्मथन देने के लिए वीरेंद्र भंडारी उनकी धर्म पत्नी के साथ आज श्रीनगर पहुंचे. उन्होंने भी आंदोलन को सर्मथन देते हुए वे स्वयम भी धरने पर बेठे रहे.

इस दौरान उन्होंने कहा कि अब तक वे सरकार द्वारा गठित की गई एसआईटी की जांच से सन्तुष्ट नहीं हैं. वे चाहते है कि पूरे मामले की जांच हाइकोर्ट की निगरानी मडर केस की जांच सीबीआई द्वारा की जाय. इसके साथ में उन्होंने ये भी कहा कि वे कई बार अपनी पीड़ा सरकार से कह चुके है. इस पूरे प्रकरण में किसी वीआईपी गेस्ट की बात सामने आ रही है, लेकिन एसआईटी उस वीआईपी का नाम बताने के बजाय मामले को डाइवर्ट कर है.

इसके साथ ही उन्होंने मांग है कि सरकार को यमकेश्वर विधायक रेनू बिष्ट के खिलाफ भी कार्रवाई करनी चाहिए. उन्हीं के कहने पर रिजॉर्ट में बुलडोजर चला कर सबूतों को मिटाने की कोशिश की गई थी.

    Post Comment

    Share