Home » उत्तराखंड में हरिद्वार से यहाँ राज्य कर विभाग ने TAX चोरी के बड़े मामले में की बड़ी गिरफ़्तारी ,जानिए ऐसे हो रहा था फ्रॉड।

उत्तराखंड में हरिद्वार से यहाँ राज्य कर विभाग ने TAX चोरी के बड़े मामले में की बड़ी गिरफ़्तारी ,जानिए ऐसे हो रहा था फ्रॉड।

by admin

उत्तराखंड में हरिद्वार से यहाँ राज्य कर विभाग ने TAX चोरी के बड़े मामले में की बड़ी गिरफ़्तारी ,जानिए ऐसे हो रहा था फ्रॉड…..

हरिद्वार : सुरेन्द्र सिंह द्वारा स्वयं एवं अपने रिश्तेदारों के नाम पर छः फर्मे सृजित की गई हैं। इन फर्मों में से सुरेन्द्र सिंह द्वारा छः पी ०एस०एण्टरप्राइजेज जी०एस०टी०आई०एन०- 05BARPS1918M2Z2 फर्म स्वामी तथा सर्वश्री पी०एस०डी० पैकेजिंग जी०एस०टी०आई०एन0-05AAHCP7587PIZH भागीदार के रूप में संचालित की जा रही थी। इसके अतिरिक्त अन्य चार फर्में अपने रिश्तेदारों के नाम से सृजित करते हुये स्वय संचालित की जा रही थी।

उक्त व्यक्ति की वास्तविक आपूर्ति “Manpower Supply” है। सृजित फर्मों के माध्यम से उनके द्वारा आयरन स्टील की फर्जी खरीद दर्शायी गयी है तथा इस फर्जी खरीद पर आई०टी०सी० to का उपयोग Manpower Supply पर देय वास्तविक कर को Set off करने के लिये किया गया है।

ई-वे बिल रिपोर्ट्स एवं रिर्टन विश्लेषण के आधार पर विभाग के संज्ञान में आया कि सुरेन्द्र सिंह पुत्र स्व० ब्रहम देव सिंह निवासी ए-1 सुभाष नगर, रामेश्वरपुरम, ज्वालापुर, हरिद्वार द्वारा अपने रिश्तेदारों के नाम से फर्मों सृजित की गयी हैं तथा विभागीय केन्द्रीकृत आसूचना इकाई (CIU) द्वारा अग्रेत्तर जांच पर यह पाया गया कि इन फर्मों को जारी किये गये फर्जी बिलों के माध्यम से आई०टी०सी० का गलत उपयोग किया गया है।

इस प्रकार संबंधित व्यक्ति द्वारा उक्त छः फर्मों के माध्यम से की गयी फर्जी खरीद पर आई०टी०सी० का उपयोग Manpower Supply पर देय वास्तविक कर की चोरी करने के लिये किया जा रहा था। उक्त फर्मों के विरुद्ध विभाग द्वारा की गई जॉच कार्यवाही में इस तथ्य की पुष्टि हुई कि सम्बन्धित फर्मों द्वारा किसी प्रकार के माल की वास्तविक खरीद नहीं की गई थी एवं बिना माल की प्राप्ति के फर्जी बिलों के माध्यम से लगभग रू० 11.64 करोड़ की आई०टी०सी० का उपयोग किया गया था।

उत्तराखण्ड माल और सेवा कर अधिनियम, 2017 की धारा-132 के अन्तर्गत किसी प्रकरण मे कर अपवंचन की धनराशि रू० 5 करोड़ से अधिक होने पर ऐसा अपराध करने वाले व्यक्ति को कारावास की सजा का प्रावधान है।

प्रश्नगत प्रकरण में अपवंचित कर की धनराशि रू० 5 करोड़ से अधिक होने के कारण आयुक्त राज्य कर द्वारा उक्त व्यक्ति की गिरफ्तारी के लिये जारी किये गये प्राधिकार पत्र के क्रम में दिनॉक 05 अप्रैल, 2022 को सुरेन्द्र सिंह पुत्र स्व० ब्रहम देव सिंह निवासी ए-1 सुभाष नगर, रामेश्वरपुरम, ज्वालापुर, हरिद्वार को गिरफ्तार किया गया।

संबंधित कार्यवाही आयुक्त राज्य कर के निर्देशन में धर्मेन्द्र राज चौहान उपायुक्त विनय कुमार पाण्डेय उपायुक्त मनमोहन असवाल सहायक आयुक्त टीकाराम चिन्याल सहायक आयुक्त तथा सुश्री ईशा राज्य कर अधिकारी द्वारा सम्पादित की गयी।

आयुक्त राज्य कर द्वारा अवगत कराया गया कि करापवंचन में संलिप्त विभिन्न फर्मों को चिन्हित किया गया है एवं ऐसी फर्मों के विरूद्ध इस प्रकार की कार्यवाही भविष्य में भी निरंतर जारी रहेगी।

related posts

Leave a Comment

Share